November 30, 2021

सिद्धू ने चन्नी के खिलाफ फिर खोला मोर्चा, भूख हड़ताल की दी धमकी

Spread the love

चंडीगढ़

पंजाब में मुख्यमंत्री बदल गया, लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू का अपनी सरकार के प्रति रवैया नहीं बदला। कैप्टन अमरिंदर सिंह से अदावत रखने वाले सिद्धू ने अब चन्नी सरकार को भी धमकाना शुरू कर दिया है। पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि यदि उनकी सरकार ने ड्रग्स और गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी मामले में रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की तो वह भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे।

 

नवजोत सिंह सिद्धू का अपनी ही पार्टी की सरकार से उलझना नया नहीं है। कैप्टन अमरिंदर सिंह से लंबे समय तक उनकी तनातनी चली और अंत में अमरिंदर ने पार्टी छोड़ दी। अमरिंदर के बाद सीएम बनाए गए चन्नी से भी सिद्धू की नहीं बन रही है। सिद्धू ने हाल ही में पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया था। हालांकि, इसे उन्होंने वापस ले लिया है। हाल ही में जब चन्नी उन्हें लेकर करतारपुर नहीं गए तो एक बार फिर दोनों के बीच टकराव सामने आ गया।सिद्धू ने कहा, नशे की वजह से नौजवान पीढ़ी बर्बाद हो रही है और लोग राज्य छोड़कर जा रहे हैं. ऐसे में अगर लोग पंजाब छोड़कर चले जाएंगे तो खजाने में पैसा कहां से आएगा और फिर यहां बड़े अस्पताल और लड़कियों के लिए कॉलेज कहां से बनेंगे.

इससे पहले भी चन्नी और सिद्धू के बीच कई मुद्दों पर खटपट सामने आ चुकी है. अभी बीते दिनों करतारपुर कॉरिडोर खुलने के बाद चन्नी जब प्रतिनिधि मंडल के साथ दर्शन के लिए जा रहे थे तो उस प्रतिनिधि मंडल में उन्हें शामिल नहीं किया गया था. इस पर सिद्धू ने नाराजगी भी जाहिर की थी.

वहीं आंकड़ों के मुताबिक दुनियाभर में नशे की वजह से तकरीबन दो लाख मौतें हर साल होती हैं और भारत में पिछले तीन सालों में ही ड्रग्स का बाजार 455 फीसदी तक बढ़ गया है.

रिपोर्ट के मुताबिक देश के 2.1 प्रतिशत लोग नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं, जिसमें मिजोरम पहले, पंजाब दूसरे और दिल्ली तीसरे नंबर पर हैं. करीब एक करोड़ 3 लाख लोग गांजा या चरस का सेवन करते हैं. नशा करने वाले सबसे ज्यादा लोग सिक्किम में हैं.