August 12, 2022

पाकिस्तान को Asia Cup 2022 में भारत की इन गलतियों का होगा फायदा, पाकिस्तानी क्रिकेटर का दावा

Spread the love

नई दिल्ली
भारत और पाकिस्तान के बीच आखिरी टी20 मुकाबला साल 2021 में टी20 वर्ल्ड कप के दौरान 24 अक्टूबर को खेला गया था। इसके बाद अब जाकर दोनों देशों के बीच एशिया कप 2022 में मैच खेला जाएगा जिसका आयोजन यूएई में इस बार किया जा रहा है। भारत और पाकिस्तान एशिया कप में ग्रुप ए में हैं और दोनों के बीच 28 अगस्त को भिड़ंत होगी। पिछले साल पाकिस्तान ने पहली बार किसी वर्ल्ड कप मुकाबले में भारत को 10 विकेट से हराने मे सफलता अर्जित की थी।

राशिद लतीफ ने गिनाई भारत की कमी
अब एक बार फिर से भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मुकाबले पर सबकी नजरें टिकी हैं और इस मैच को देखने के लिए सभी बेताब हैं। बाबर आजम की कप्तानी वाली पाकिस्तान की टी20 टीम काफी मजबूत है और जब भारत से उसका सामना होगा तो रोमांच अपने चरम पर रहने वाला है। एशिया कप के लिए फाइनल शेड्यूल जारी कर दिया गया है और अब भारत-पाकिस्तान मैच को लेकर माहौल बनने लगा है और अब पाकिस्तान के पूर्व कप्तान राशिद लतीफ ने एक ऐसा बयान दे दिया है जिसकी वजह से माहौल और गर्म हो गया है।

राशिद लतीफ ने कहा कि पिछले साल टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के हाथों मिली हार के बाद रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय टीम ने सबसे छोटे प्रारूप में अपनी खेल शैली में महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। उनका मानना है कि एशिया कप में दुबई में जब दोनों देशों का मैच होगा तो पाकिस्तान की टीम का दबदबा रहने वाला है। उन्होंने इसके पीछे का कारण भी बताया और कहा कि भारत की कप्तानी में लगातार बदलाव, रोहित शर्मा, केएल राहुल और विराट कोहली की लगातार अनुपस्थिति के कारण, उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ नुकसान हो सकता है।

लतीफ ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि जीतना या हारना अलग बात है। लेकिन मुझे लगता है कि पाकिस्तान की रणनीति बहुत बेहतर दिख रही है। पाकिस्तान की तरफ से ज्यादा बदलाव नहीं हैं, चाहे वह टी20 हो, वनडे हो या फिर टेस्ट। जब आप भारत को देखते हैं, तो उसके पास अतीत में लगभग सात कप्तान रहे हैं जो अभी की परिस्थिति को देखते हुए काफी अनुचित लगता है।

विराट कोहली नहीं हैं साथ
रोहित और राहुल चोटिल थे। हार्दिक पांड्या और रिषभ पंत कप्तान के रूप में आए। शिखर धवन (वनडे) भी कप्तान के रूप में आए। ऐसे में उन्हें अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम बनाने में कुछ परेशानी होगी। इसमें कोई शक नहीं है कि भारत के पास खिलाड़ियों की कोई कमी नहीं है, लेकिन वो अपना बेस्ट 16 नहीं बना सकते हैं। इसके साथ ही मुझे लगता है कि उन्हें अपना बेस्ट प्लेइंग इलेवन बनाने में भी परेशानी होगी।